Home > राजनीति > 23 मार्च-शहीदी दिवस पर दिल्ली के JNU पहुंची भाजयुमो राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद पूनम महाजन

23 मार्च-शहीदी दिवस पर दिल्ली के JNU पहुंची भाजयुमो राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद पूनम महाजन

प्रधानमंत्री मोदी जी ने युवाओं के लिए “नए भारत” की नींव रखी : पूनम महाजन

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की शानदार जीत के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘‘नया भारत” उभर रहा है जिसके पास 125 करोड़ भारतीयों की ताकत और क्षमता है। यह भारत और वह विकास का पक्षधर है। उन्होंने जनता से कहा कि वह नए भारत के निर्माण का संकल्प लें और अपनी प्रतिबद्धता जताए।

इसी अभियान को आगे बढ़ाते हुए भारतीय जनता युवा मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुम्बई से सांसद पूनम महाजन ने आज 23 मार्च-शहीदी दिवस पर दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्विद्यालय (JNU) में “New India- Innovation and Youth” विषय पर संगोष्ठी  को संबोधित किया । पूनम महाजन ने कार्यक्रम में युवाओं के प्रेरणस्रोत, शहीद ए आज़म भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को उनके शहीदी दिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की ।

“New India- Innovation and Youth” विषय पर बोलते हुए पूनम महाजन ने कहा की भारत, ऐतिहासिक दौर से गुज़र रहा है । जहाँ एक ऒर देश में भय, भूख और भ्रष्टाचार का अंत हो रहा है, वहीँ दूसरी ओर विकास के नए आयाम स्थापित हो रहे हैं । प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश के उर्जावान युवाओं के लिए “नए भारत” की नींव रखी गयी है । यह देश में पहली बार हुआ है, कि मोदी सरकार के एजेंडे पर “युवा विकास” प्रमुख है । चाहे “स्टार्ट अप इण्डिया” हो या फिर “मेक इन इण्डिया” हो, प्रधानमंत्री जी की इन सभी ड्रीम योजनाओं का मुख्य केंद्र युवा भारत है । इन सभी योजनाओं का लाभ युवाओं को ही मिलेगा ।

पूनम महाजन  ने कार्यक्रम संयोजकों को बधाई दी जिन्होंने राष्ट्रभक्ती का परिचय दिया और देश के अखंडता और अस्मिता की रक्षा करने वाले, देश के लिए मर मिटने वाले शहीदों की याद में युवाओं के लिए “नए भारत” के विषय पर परिचर्चा आयोजित की । देशभक्त, देश की अखण्डता सुनिश्चित करने वाले, देश की खातिर जान गवाने वालों की शहादत को नमन कर “शहीदी दिवस” पर शहीदों का नमन करते हैं वहीँ दूसरी ओर देशविरोधी लोग, अफ़ज़ल और याकूब मेनन जैसे आतंवादियों की मौत पर आंसू बहाते हैं । लेकिन आज का युवा सजग और समझदार है ।उन्होंने ये भी कहा कि राष्ट्रभक्ती सर्वोपरी है ।